Tag: stephen hawking information

7
May

स्टीफन हॉकिंग(Stephen Hawking) का प्रेरणादायी जीवन

स्टीफन हॉकिंग का जन्म 8 जनवरी सन 1942 को इंग्लैंड के ऑक्सफ़ोर्ड शहर में हुआ, बचपन से ही हॉकिंग असीम बुद्धिमत्ता से भरे हुए थे जो लोगो को चौका देती थी । बचपन से ही स्टीफन गणित विषय में गहरी रूचि थी| जब वो 21 साल के थे तभी घर की सीढ़ी से उतरते समय वो नीचे गिर पड़े उन्हें डॉक्टर के पास ले जाया गया , जहाँ ये पता लगा कि वो एक अनजान और कभी न ठीक होने वाली बीमारी से ग्रस्त है जिसका नाम है न्यूरॉन मोर्टार डीसीस। इस बीमारी में शारीर के सारे अंग धीरे धीरे काम करना बंद कर देते है।और अंत में श्वास नली भी बंद हो जाने से मरीज घुट घुट के मर जाता है। डॉक्टरों ने कहा हॉकिंग बस 2 साल के मेहमान है। लेकिन हॉकिंग ने अपनी इच्छा शक्ति पर पूरी पकड़ बना ली थी और उन्होंने कहा की मैं 2 नहीं २० नहीं पूरे ५० सालो तक जियूँगा ।  हॉकिंग ने जो कहा वो कर के दिखाया । उनकी इच्छा शक्ति ने मानो उन्हें मृत्युंजय बना दिया हो । उन्होंने अपने 70 वें जन्म दिन कहा “मै अभी और जीना चाहता हूँ ।” उन्होंने अपने 70 वें जन्म दिन कहा “मै अभी और जीना चाहता हूँ ।” उन्होंने अपनी बीमारी को एक वरदान के रूप में लिया।वो अपने मार्ग पे आगे बढ़ते चले गए और दुनिया को दिखाते चले गये की उनकी इच्छा शक्ति और उनकी बुद्धि मत्ता उनकी बीमारी से कई ज्यादा है | उन्होंने ब्लैक होल का कांसेप्ट दुनिया को दिया, उन्होंने हॉकिंग रेडिएशन का विचार भी दुनिया को दिया । और उनकी लिखी गयी किताब “A BRIEF HISTORY OF TIME “ ने दुनिया भर के विज्ञान जगत में तहलका मचा दिया। हॉकिंग का IQ 160 है जो किसी जीनियस से भी कहीं ज्यादा है। 2007 में उन्होंने अंतरिक्ष की सैर भी की । अन्य विकलांग लोगों को उन्होंने सलाह दी की, उन चीजों पर ध्यान दें जिन्हे अच्छी तरह से करने से आपकी विकलांगता नहीं रोकती , और उन चीजों के लिए अफ़सोस नहीं करें जिन्हे करने में ये बाधा डालती है। आत्मा और शरीर दोनों से विकलांग मत बनें। स्टीफ़न हॉकिंग ने ब्लैक होल और बिग बैंग सिद्धांत को समझने में अहम योगदान दिया। उन्हें 12 मानद डिग्रियाँ और "अमरीका का सबसे उच्च नागरिक सम्मान  " प्राप्त हुये। इस महान
Read more